Tuesday, 28 April 2015

धमकी देकर मेरे ससुराल वालो को किया प्रताड़ित !

मेरा नाम चन्दन गोंड पुत्र स्व0 बेनी माघव गौड़ उम्र 29 वर्ष निवासी राधा भवन सी0के010/36 लालता घाट थाना चैक वाराणसी मेरी पत्नी का नाम स्वाती उम्र 23 वर्ष है मेरे दो बच्चें है एक लड़की साक्षी उम्र 3 वर्ष व अनन्या की उम्र 2 वर्ष हैं, हम परिवार के साथ रहते है। मेरी ससुराल सुन्दरपुर में है। मेरा कोर्ट मैरेज 5 वर्ष पूर्व हुआ है। जब कभी हम ससुराल पत्नी के साथ जाते है तो वहा पर राजेन्द्र पटेल बैठा ही मिलता था। राजेन्द्र पटेल का वही बगल में कुछ दूरी पर पावरलूम का कारखाना लगाया था। फिर मैं कुछ दिन के बाद अपने ससुराल गये तो मेरी साली पूजा राजभर पुत्री रामसूरत उम्र 17 वर्ष घर आप बीती बतायी। चार वर्ष पूर्व से राजेन्द्र पटेल मेरे साथ दुष्कर्म करने का प्रयास करता रहा। मेरी माँ व भाई आदि को डरा घमका कर रखा है। आये दिन बिना शादी व्याह के मेरे साथ पत्नी जैसा सम्बन्ध बनाने की कोशिश करता रहा लेकिन सफल नहीं हो पा रहा था | मेरे पूरे परिवार को कही आने जाने नहीं देता है। कभी-कभी दो एक आदमीयों को लेकर आता था और मेरे घर पर शराब भी पीता था। रिवाल्वर भी दिखाता था।
मेरे परिवार के लोगों का खर्च भी चलाता है। तथा पड़ोसियों को भी मिला कर रखता हैं तथा 3 वर्ष पूर्व मरे श्वसुर रामसूरत को डरा घमकाकर कहीं भगा दिया आज तक वे घर पर नहीं लौटे इस सब बातो को जानने के बाद हमने अपने सास नन्दनी से पुछा तो वे बोली हम मजबूर है। उस समय हम पूरे परिवार को किसी तरह अपने साथ ले आये और अपने घर पर रखे वहा से आने के बार अपने कुछ मित्रो की मदद से वरिष्ठ पलिस अधिकारी वाराणसी के यहा पूजा के साथ मिला। तुरन्त उन्होंने कार्यवाही के लिए लंका थाने को निर्देशित किये। और पूजा को मेडिकल के लिए महिला थाने मैदागिन रखा गया। मुकदमा पंजीकृत का राजेन्द्र पटेल की गिरफ्तारी की गयी अभी राजेन्द्र्र पटेल जेल में है। लंका थाने द्वारा पूजा को मेरी सुपुदर्गी में दिया गया। पूजा मेरे साथ रह रही है। हमको राजेन्द्र के आदमीयों द्वारा बराबर घमकी दी जा रही है आठ- दश लोग बराबर मेरे मूल निवास पर आकर घमकी देते है कि इस मामले में सुलह करलो नही तो पूरे परिवार को जान से मार देगे। इस मद के कारण हम पूजा को व अपने परिवार के साथ किराये के कमरे मे सोनभद्र रह रहे है। घर पर मेरी माताजी अकेली रहती है। उन्हें भी धकमी का सामना करना पड़ता है। वे भी इस घकमी से काफी परेशान है।
एक सप्ताह पहले दिलीप यादव सभासद चौबे मेरे घर पर कुछ आदमीयों के साथ आये और सुलह ही बात करने लगे। और बोले यदि सुलभ नहीं करोगे तो पूरे परिवार को जान से मार दिया जायेगा। चार दिन पूर्व मैं अपनी पत्नी श्वेता व बच्चों को लेकर जा रहे थे तो दिलीप यादव चौक में मिल गये और वोले मिल के जाना नहीं तुम्हारी मिट्टी पलीद कर देगे और तुम्हें फर्जी मुकदमे में फॅस देगे थाने में बन्द कराकर बुरी तरह पीटवायेगें। उस समय प्रकाश चौबे मुहल्ले में आ गये। और उन्होंने बीच बचा किया। हम पूरे परिवार को इस तरिके से धमकी देर हैं यही नहीं बराबर मुहल्ले में घुमकर सबसे यही बात कह रहे है कि यदि सुलह नहीं करेगे इसका परिणाम भुगतना पडे़गा। दिलीप यादव से बराबर खतरा बना है। किसी भी समय अप्रिय घटना घट सकती है। मरेा पुरा परिवार डरा व सहमा है। हम चाहते हैं कि इस प्रकरण में दिलीप यादव से क्या लेना-देना है। लेकिन राजेन्द्र के घर में आकर घमकी दे रही है। दिलीप यादव से हमारे उपर किसी भी समय अप्रिय घटना घट सकती है।
        हम चाहते है कि मेरी सुरक्षा हो और दोषी के खिलाफ कार्य वाही हो। और पूजा के केश में न्याय मिले। आय को अपनी बात बताकर हम हल्कापन महसूस कर रहे है।

साक्षात्कारकर्ता-      शिव प्रताप चौबे                                              
पीड़ित -           चन्दन गोंड